Thu. May 28th, 2020

Expose India

Truth within

विदेश से आ रहे नागरिकों के लिए योगी सरकार की खास व्यवस्था

भारत सरकार विदेशों में फंसे भारतीयों को वापस ला रही है। योगी सरकार ने फैसला किया है, विदेश से आ रहे यात्रियों को लखनऊ में ही क्वारनटीन किया जाएगा। सभी 170 यात्री लखनऊ के अलग-अलग क्वारनटीन सेंटर में रहेंगे। जिन यात्रियों में फ्लू के लक्षण दिखेंगे उन्हें फौरन अस्पताल में एडमिट किया जाएगा।
उत्तर प्रदेश में विदेश से आ रहे 170 यात्रियों को लखनऊ के क्वारनटीन सेंटर में भेज दिया जाएगा। राज्य सरकार ने पहले फैसला किया था कि लोगों को उनके घर भेज दिया जाएगा लेकिन कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण ये फैसला टाल दिया गया है।
विदेश से आए नागरिकों के पास क्वारनटीन होने के दो विकल्प होंगे। वे अपने खर्चे पर होटल में भी क्वारनटीन हो सकते हैं, वहीं जो यात्री अपना खर्च उठाने में कमजोर हैं, उनके पास विकल्प होगा कि वे जिला प्रशासन की ओर से निर्मित क्वारनटीन सेंटर में रह सकें। स्थानीय प्रशासन भी बड़ी संख्या में क्वारनटीन सेंटर बना रहा है।
दरअसल कोरोना की वजह से दुनिया के अन्य देशों में फंसे भारतीयों को लाने के लिए वंदे भारत मिशन शुरू हो गया है। सूत्रों का दावा है कि प्रवासियों को लेकर 12 देशों से फ्लाइट्स आ रही हैं और देश के 14 शहरों में 64 फ्लाइट्स लैंड करेंगी।
ये फ्लाइट्स छोटे एयरपोर्ट्स पर भी लैंड करेंगे और इस बात का ख्याल रखा जाएगा कि लोग अपने घर के करीब जगह पर उतरें। सभी लोगों को क्वारनटीन पीरियड खत्म होने के बाद ही घर जाने की इजाजत दी जाएगी।