Thu. Jul 9th, 2020

Expose India

Truth within

अलग सिंधी प्रदेश बनाने की लोकसभा में उठी मांग

पाकिस्तान से विभाजन के समय हिंदुस्तान आ कर बसे सिंधी समुदाय के लोगों की खराब हालत का मुद्दा शुक्रवार को लोकसभा में उठा और अलग सिंधी प्रदेश का गठन किए जाने की मांग की गई। भाजपा सदस्य बिशेश्वर तुडू ने लोकसभा में शून्यकाल के दौरान यह मामला उठाते हुए कहा कि सिंधु घाटी की मोहनजोदाड़ो सभ्यता से ताल्लुक रखने वाले इस समुदाय के लोग आज बदहाली का जीवन जी रहे हैं।

उन्होंने कहा कि विभाजन के समय पाकिस्तान के सिंध से ये लोग शरणार्थियों के रूप में भारत में आकर बसे थे। उन्होंने कहा कि सिंधी समुदाय के संरक्षण के लिए अलग से सिंध प्रदेश का गठन किए जाने के साथ ही सिंधी कल्याण बोर्ड, राष्ट्रीय सिंधी अकादमी, सिंधी टीवी और रेडियो चैनल शुरू करने की तथा 26 जनवरी की परेड में सिंधी समुदाय की झांकी को शामिल किए जाने की मांग की। साथ ही उन्होंने भगवान झूलेलाल के जन्मदिन पर अवकाश घोषित किए जाने की भी मांग की।